अंबिकापुर : राइस मिल से धान बेचे जाने की सूचना मिलते ही खाद्य टीम पहुंची औचक जांच पर, देवगढ़ में संचालित जय हनुमान राइस मिल किया गया सील


समर्थन मूल्य में धान खरीदी के अंतिम दिनों में प्रशासन द्वारा कोचियों-बिचौलियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। कलेक्टर श्री विलास भोस्कर के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन की टीम द्वारा लगातार जांच कर सख्ती के साथ अवैध धान भण्डारण, परिवहन एवं विक्रय पर कार्रवाई जारी है।

इसी कड़ी में सोमवार को गोपनीय सूचना मिलते ही खाद्य विभाग की टीम विकासखंड सीतापुर के ग्राम पंचायत देवगढ़ के सतीश अग्रवाल द्वारा संचालित मेसर्स जय हनुमान राइस मिल पहुंची। प्राप्त सूचना के आधार पर जांच पश्चात किसानों को धान बेचने की शिकायत सही पाए जाने पर राइस मिल को तत्काल प्रभाव से सील कर दिया गया है। जिला खाद्य अधिकारी ने उक्त जानकारी देते हुए बताया है कि मिलर्स पर छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 एवम आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत कठोर कार्यवाही की जाएगी।

जांच में जिला खाद्य अधिकारी श्री रविंद सोनी, जिला विपणन अधिकारी श्री अरुण विश्वकर्मा, सहायक खाद्य अधिकारी श्री रोशन गुप्ता, नोडल अधिकारी स्टेट वेयरहाउसिंग श्री संदीप गुप्ता उपस्थित थे।

सूचना प्राप्त होने के बाद, टीम ने तुरंत कार्रवाई की और अवैध धान भंडारण को रोकने के लिए सतीश अग्रवाल के द्वारा संचालित मेसर्स जय हनुमान राइस मिल को सील कर दिया। इसके अलावा, छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 के तहत और आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत कठोर कार्रवाई की जाएगी।

जांच में उपस्थित अधिकारियों ने सतीश अग्रवाल के खिलाफ धान बेचने की शिकायत को सही साबित किया और कठोर कार्रवाई का समर्थन किया। उन्होंने सुनिश्चित किया कि किसानों को न्याय मिले और कोई भी अवैध गतिविधि नहीं चल सके।

इस घटना के माध्यम से स्थानीय प्रशासन ने दिखाया कि वह खाद्य सुरक्षा और न्याय के प्रति संवेदनशील है। यह भी दिखाता है कि वे किसानों के हित में कठोर कार्रवाई करेंगे और अवैध गतिविधियों के खिलाफ सख्ती से उत्तरदायी होंगे।

समर्थन मूल्य में धान की खरीदी के समय इस तरह की प्रक्रिया और कठोर कार्रवाई न केवल गड़बड़ी को रोकती है, बल्कि खाद्य सुरक्षा को भी सुनिश्चित करती है। इस तरह के कदम किसानों को सुरक्षित महसूस कराते हैं और उनके हित में प्रशासनिक इकाई की जिम्मेदारी को दर्शाते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *