बलौदाबाजार : 10 हजार दीपकों से जगमग हुआ ऐतिहासिक स्थल तुरतुरिया धाम

श्री रामलला प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर पूरा जिला राममय हो गया। इस ऐतिहासिक दिन का साक्षी बना श्री राम वन गमन परिपथ में शामिल लव कुश की जन्मस्थली तुरतुरिया धाम। जहां पर शाम होते ही 10 हजार श्री राम ज्योति प्रज्ज्वलित किए गए। जिससे पूरा तुरतुरिया धाम जगमग हो गया। उक्त कार्यक्रम का आयोजन वन विभाग एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में किया गया था। जिसे विशेष दीपोत्सव का नाम दिया गया था।

शाम होते ही दीप जलाने के लिए आसपास के ग्रामीण एवं श्रध्दालुओं बड़ी संख्या में पहुंचने लगे। वाल्मिकी आश्रम से लेकर बालमदेही नदी एवं मातागढ़ तक दीपक जलाए गए। इसके साथ ही प्रवेश द्वार, आईसीटी सेंटर, पार्किंग स्थल, गार्डन एवं अन्य स्थलों में दीपक सहित रंगबिरंगी लाइटों से पूरे स्थल को रोशनी से सजाया गया था। इस मौके पर लोगों ने उत्साह के साथ बढ़-चढ़कर भाग लिया। कई ग्रामीणों ने तो घर से ही दीपक सजाकर आये थे।

इस अवसर को और विशेष बनाने जनसंपर्क विभाग द्वारा कला जट्ठा के माध्यम से श्री राम पर आधारित कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके साथ ही आने वाले श्रद्धालुओं के लिए प्रसाद वितरण की भी व्यवस्था की गई थी।

इस मौके पर जनपद पंचायत अध्यक्ष सिद्धांत मिश्रा, स्थानीय जनप्रतिनिधि गण, बारनवापारा अभ्यारण्य अधीक्षक श्री कुदेरिया, वन विभाग एसडीओ अनिल वर्मा, गोविंद सिंह, जनपद पंचायत सीईओ हिमांशु वर्मा वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी गण सहित आसपास के ग्रामीण एवं अनेक श्रद्धालु गण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

पूरे कार्यक्रम को सफल बनाने में वन विभाग विशेष सहयोग रहा। इस अवसर पर श्री रामलला प्राण प्रतिष्ठा के ऐतिहासिक संदर्भ में जिले के विभिन्न क्षेत्रों से लोग एकत्र हुए और अपने भावों को अभिव्यक्त किया। इस प्रकार, यह उत्सव न केवल धार्मिक अर्थ में महत्वपूर्ण था, बल्कि सामाजिक और सांस्कृतिक दृष्टिकोण से भी एक महत्वपूर्ण घटना बना। यह उत्सव लोगों को एक साथ आने और साझा करने का अवसर प्रदान करता है, जो समृद्ध और समरस समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *