धमतरी : कुष्ठ पखवाड़ा का आयोजन 30 जनवरी से 13 फरवरी तक

महात्मा गांधी की पुण्य तिथि 30 जनवरी से आगामी 13 फरवरी तक कुष्ठ पखवाड़ा आयोजित किया जाएगा। इस महोत्सव के दौरान, धमतरी को कुष्ठ मुक्त जिला बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी स्तरों पर विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जाएगी। स्कूलों में बच्चों को कुष्ठ बीमारी के बारे में जागरूक किया जाएगा, उनके भ्रांतियों पर चर्चा की जाएगी, निबंध प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी।

इसके अलावा, मितानिन और स्वास्थ्य कार्यकर्ता ग्राम और शहर के स्तर पर घर-घर जाकर नए रोगियों का पंजीकरण करेंगे और उनका उपचार करेंगे। कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी द्वारा हरी झंडी दिखाकर प्रचार रथ का आयोजन किया जाएगा, जिससे कि गांवों में कुष्ठ रोग के बारे में जानकारी पहुंचे।

मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.के.मण्डल ने बताया कि “आजादी के अमृत महोत्सव” के अवसर पर ‘भारत को कुष्ठ मुक्त की ओर’ थीम के तहत जिले में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत, ग्राम पंचायतों में ग्रामसभा आयोजित कर मितानिन, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और विभागीय अधिकारियों के साथ कुष्ठ प्रभावितों के साथ मित्रता और भेदभाव को दूर करने के लिए उपयुक्त कदम उठाए जाएंगे।

सीएमएचओ ने कहा कि कुष्ठ रोग से मुक्ति के लिए जांच, नियमित दवाई का सेवन, समय पर इलाज, चमड़ी पर सुन्नपन दाग, तेलिया तामिया चमक वाले चकते जैसे लक्षणों का ध्यान रखना जरूरी है। उन्होंने बताया कि शंका होने पर निकट स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क कर उपचार की सहायता ली जा सकती है।

डॉ.मण्डल ने यह भी बताया कि जिले में कुष्ठ रोग से प्रभावित 169 लोगों में से 155 को पूरी तरह से ठीक किया गया है। कलेक्टर सुश्री गांधी ने जिलेवासियों से अपील की है कि कुष्ठमुक्त जिला बनाने के लिए सर्वेक्षण दल का सहयोग करें।

इस परियोजना के माध्यम से, धमतरी जिला को कुष्ठ मुक्त बनाने के लिए एक सकारात्मक कदम उठाया गया है। इस समर्थन में स्थानीय समुदायों की भागीदारी अत्यंत महत्वपूर्ण है ताकि हर व्यक्ति को स्वस्थ जीवन का अधिकार प्राप्त हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *