रायपुर : टेकलगुड़ेम मुठभेड़ में शहीद जवानों के परिजनों को दी जाएगी 10-10 लाख रूपए की आर्थिक सहायता : मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने की घोषणा

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने आज कहा कि सुकमा जिले के टेकलगुड़ेम में बीते 30 जनवरी को नक्सल मुठभेड़ में शहीद होने वाले तीन जवानों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने आज कोरिया जिले के बैकुंठपुर में आयोजित झुमका जल महोत्सव के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान यह घोषणा की। यह आर्थिक सहायता राशि शहीद जवानों को राज्य और केंद्र सरकार की ओर से मिलने वाली राशि से अतिरिक्त है।

ज्ञात है कि 30 जनवरी को प्रदेश के सुकमा जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र के गाँव टेकलगुड़ेम में नक्सलियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले का मुंहतोड़ जवाब देते हुए तीन जवान शहीद हो गए थे। इसमें 201 कोबरा सीआरपीएफ बटालियन के आरक्षक श्री देवेन सी और आरक्षक श्री पवन कुमार तथा 150वीं बटालियन के आरक्षक श्री लम्बाधर सिंघा शहीद हो गए थे। इस घटना में 16 जवान घायल हो गए थे जिसमें से 8 जवानों को बेहतर उपचार के लिए राजधानी रायपुर लाया गया है। मुख्यमंत्री श्री साय 30 जनवरी की शाम को ही अस्पताल पहुंचकर घायल जवानों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना था।

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने यह घोषणा की कि इस दुखद घटना में शहीद होने वाले जवानों के परिवारों को सरकार की पूरी सहायता मिलेगी। उन्होंने शहीदों के योगदान को सराहा और उनके परिजनों के प्रति सरकार की गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यह आर्थिक सहायता राशि शहीद जवानों के परिवारों के लिए केवल एक आर्थिक सहारा नहीं है, बल्कि यह उनके साथ हमारी समर्थन और आदर्शों का प्रतिबिंब भी है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हमेशा अपने जवानों के परिवारों के साथ खड़ी है और उनके हर संभव समर्थन का संकल्प लिया है। उन्होंने यह भी जताया कि राज्य सरकार समय-समय पर वीर शहीदों के परिवारों के लिए आवश्यक सहायता प्रदान करती रहेगी।

यह घटना स्थानीय समुदाय के लिए एक गहरी दुखद घटना है, और सरकार इसे सीधे संबोधित कर रही है। मुख्यमंत्री श्री साय ने जवानों के साथ जो अनुभव किया है, उनकी मानसिकता को समझा और उनके परिवारों के प्रति अपने अनुभव का आदान-प्रदान किया। उन्होंने उनकी परिवारों को समर्थन और सहारा देने का प्रतिबद्धता जताया।

साथ ही, मुख्यमंत्री श्री साय ने बीते 30 जनवरी को हुई हमले में घायल होने वाले जवानों के लिए भी शीघ्र उपचार की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। उन्होंने इसे एक मानवीय मामला बताकर स्वयं को समर्पित किया और सरकार का संघर्ष नक्सलवाद के खिलाफ जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय की इस घोषणा ने उनकी नेतृत्व क्षमता और उनके समर्थन निकालने की क्षमता को प्रकट किया है। यह साबित करता है कि सरकार उनके साथ है और उनके प्रति गहरी संवेदना रखती है।

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने आज कहा कि सुकमा जिले के टेकलगुड़ेम में बीते 30 जनवरी को नक्सल मुठभेड़ में शहीद होने वाले तीन जवानों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने आज कोरिया जिले के बैकुंठपुर में आयोजित झुमका जल महोत्सव के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान यह घोषणा की। यह आर्थिक सहायता राशि शहीद जवानों को राज्य और केंद्र सरकार की ओर से मिलने वाली राशि से अतिरिक्त है।

ज्ञात है कि 30 जनवरी को प्रदेश के सुकमा जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र के गाँव टेकलगुड़ेम में नक्सलियों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले का मुंहतोड़ जवाब देते हुए तीन जवान शहीद हो गए थे। इसमें 201 कोबरा सीआरपीएफ बटालियन के आरक्षक श्री देवेन सी और आरक्षक श्री पवन कुमार तथा 150वीं बटालियन के आरक्षक श्री लम्बाधर सिंघा शहीद हो गए थे। इस घटना में 16 जवान घायल हो गए थे जिसमें से 8 जवानों को बेहतर उपचार के लिए राजधानी रायपुर लाया गया है। मुख्यमंत्री श्री साय 30 जनवरी की शाम को ही अस्पताल पहुंचकर घायल जवानों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना था।

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने यह घोषणा की कि इस दुखद घटना में शहीद होने वाले जवानों के परिवारों को सरकार की पूरी सहायता मिलेगी। उन्होंने शहीदों के योगदान को सराहा और उनके परिजनों के प्रति सरकार की गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यह आर्थिक सहायता राशि शहीद जवानों के परिवारों के लिए केवल एक आर्थिक सहारा नहीं है, बल्कि यह उनके साथ हमारी समर्थन और आदर्शों का प्रतिबिंब भी है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हमेशा अपने जवानों के परिवारों के साथ खड़ी है और उनके हर संभव समर्थन का संकल्प लिया है। उन्होंने यह भी जताया कि राज्य सरकार समय-समय पर वीर शहीदों के परिवारों के लिए आवश्यक सहायता प्रदान करती रहेगी।

यह घटना स्थानीय समुदाय के लिए एक गहरी दुखद घटना है, और सरकार इसे सीधे संबोधित कर रही है। मुख्यमंत्री श्री साय ने जवानों के साथ जो अनुभव किया है, उनकी मानसिकता को समझा और उनके परिवारों के प्रति अपने अनुभव का आदान-प्रदान किया। उन्होंने उनकी परिवारों को समर्थन और सहारा देने का प्रतिबद्धता जताया।

साथ ही, मुख्यमंत्री श्री साय ने बीते 30 जनवरी को हुई हमले में घायल होने वाले जवानों के लिए भी शीघ्र उपचार की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। उन्होंने इसे एक मानवीय मामला बताकर स्वयं को समर्पित किया और सरकार का संघर्ष नक्सलवाद के खिलाफ जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय की इस घोषणा ने उनकी नेतृत्व क्षमता और उनके समर्थन निकालने की क्षमता को प्रकट किया है। यह साबित करता है कि सरकार उनके साथ है और उनके प्रति गहरी संवेदना रखती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *