रायपुर : छोटी-छोटी लापरवाही से बचा जाए तो, बच जाएंगे अनमोल जीवन: मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय आज राजधानी रायपुर में आयोजित राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा लघु फिल्म महोत्सव में शामिल हुए। दो दिवसीय राष्ट्रीय लघु फिल्म महोत्सव का आयोजन रायपुर के मेडिकल कॉलेज स्थित अटल बिहारी वाजपेयी ऑडिटोरियम में किया गया है। मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सड़क सुरक्षा पर बनी लघु फिल्म ’फाइनल्स’ तथा ’गलती मोर सजा तोर’ भी देखी। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा लघु फिल्म महोत्सव में लघु फिल्मों के माध्यम से बताया गया कि छोटी-छोटी लापरवाहियों से एक अनमोल जीवन चला जाता है। इसे बचाया जा सकता है, यदि ट्रैफिक के नियमों का पूरी तरह से पालन किया जाए। मैंने यह फिल्में देखी और यातायात विभाग ने क्रिएटिव माध्यम से इन लापरवाहियों को बताया है, जिसका बहुत अच्छा असर दर्शकों पर पड़ेगा और वे ट्रैफिक से संबंधित सावधानियां बरतेंगे। यातायात के नियमों का पालन नहीं करने के कारण लोग असमय ही काल के ग्रास में चले जाते है। यातायात विभाग और पुलिस विभाग यातायात नियमों के पालन सड़क सुरक्षा के उपायों के प्रति लोगों को जागरूक करने का कार्य तो लगातार करते ही रहते हैं, अभियान भी चलाते हैं। लेकिन हमें स्वयं भी सड़क सुरक्षा के उपाय का कड़ाई के साथ पालन करना चाहिए। सभी का जीवन बहुत कीमती हैं, छोटी-छोटी लापरवाही से सड़क दुर्घटनाएं होती हैं और इसमें कई लोगों की मृत्यु हो जाती है। कई परिवार उजड़ जाते हैं।

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने आज रायपुर में आयोजित राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा लघु फिल्म महोत्सव में अपनी उपस्थिति दर्ज करते हुए इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। रायपुर के मेडिकल कॉलेज स्थित अटल बिहारी वाजपेयी ऑडिटोरियम में दो दिवसीय राष्ट्रीय लघु फिल्म महोत्सव का आयोजन किया गया था और मुख्यमंत्री ने इसका उत्साहपूर्ण शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा, “आज राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा लघु फिल्म महोत्सव में लघु फिल्मों के माध्यम से हमें यह बताया जा रहा है कि छोटी-छोटी लापरवाहियों से एक अनमोल जीवन चला जाता है। इसे बचाया जा सकता है, यदि ट्रैफिक के नियमों का पूरी तरह से पालन किया जाए।”

उन्होंने आपत्तिजनक स्थितियों को देखने के लिए इस महोत्सव में प्रदर्शित हो रही दो लघु फिल्में, ‘फाइनल्स’ और ‘गलती मोर सजा तोर’, को देखा। मुख्यमंत्री ने कहा, “मैंने यह फिल्में देखी हैं और यातायात विभाग ने क्रिएटिव माध्यम से इन लापरवाहियों को बताया है, जिसका बहुत अच्छा असर दर्शकों पर पड़ेगा और वे ट्रैफिक से संबंधित सावधानियां बरतेंगे।”

यह महोत्सव सड़क सुरक्षा को लेकर जागरूकता फैलाने का एक माध्यम है, और मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लोगों से यातायात नियमों का पूरी तरह से पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा, “सभी का जीवन बहुत कीमती हैं, छोटी-छोटी लापरवाही से सड़क दुर्घटनाएं होती हैं और इसमें कई लोगों की मृत्यु हो जाती है। कई परिवार उजड़ जाते हैं।”

मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि यातायात विभाग और पुलिस विभाग सावधानियों की जागरूकता फैलाने के लिए कई अभियान चला रहे हैं और लोगों को सड़क सुरक्षा के महत्व के बारे में समझा रहे हैं। उन्होंने कहा, “यातायात के नियमों का पालन नहीं करने के कारण लोग असमय ही काल के ग्रास में चले जाते है। इसलिए हमें स्वयं भी सड़क सुरक्षा के उपाय का कड़ाई के साथ पालन करना चाहिए।”

उन्होंने सुरक्षा के उपायों पर चर्चा करते हुए कहा, “छोटे उपायों में ही बड़ी सुरक्षा होती है। हमें हमारी गाड़ियों को सुरक्षित रखने के लिए सही तरीके से पार्क करना चाहिए और बच्चों को सुरक्षित स्थानों पर खेलने के लिए प्रेरित करना चाहिए।”

इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ हजारों लोगों ने भाग लिया और फिल्मों के माध्यम से सड़क सुरक्षा के महत्व को समझाने का प्रयास किया। इस महोत्सव ने न केवल मनोरंजन प्रदान किया बल्कि समाज में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाने का भी एक महत्वपूर्ण कारगर माध्यम साबित हुआ है।

इस मौके पर लोगों को सड़क सुरक्षा के महत्व के प्रति जागरूक करने का कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण है ताकि समाज में सुरक्षित सड़कों की दिशा में पूरी तरह से बदलाव आ सके। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय की इस पहल से आगे के दिनों में यह कार्यक्रम सड़क सुरक्षा के मामले में समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहायक साबित हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *