एसडीएम वासु जैन ने पीएम आवास में लापरवाही करने वाले हितग्राही को दिया नोटिस और समझाइस

सारंगढ़-बिलाईगढ़, 24 जनवरी 2024/ आईएएस श्री वासु जैन एसडीएम सारंगढ़ ने पीएम आवास योजना अंतर्गत लापरवाही के संबंध में ग्राम मुड़पार बड़े के हितग्राही को नोटिस जारी कर पेशी में बुलाकर पक्ष जाना और कार्यवाही के लिए समझाया गया। छत्तीसगढ़ पंचायती राज अधिनियम की धारा 92 के अधीन प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) अंतर्गत सारंगढ़ के ग्राम पंचायत मुड़पार बड़े के हितग्राही सावित्री, परसराम को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। योजना के अंतर्गत हितग्राही को 25000 रुपए किस्त के रूप में प्रदान किए जाने के उपरांत भी 12 माह से भी अधिक समय व्यतीत होने के उपरांत आवास निर्माण कार्य पूर्ण करने में कोई रुचि नहीं लिया गया है एवं शासन द्वारा जारी किए गए किस्तों का आहरण कर अपनी अभी रक्षा में रखते हुए राशि दुरुपयोग किया गया है। इस संबंध में हितग्राही को पंचायती राज अधिनियम की धारा 92 के तहत अपना पक्ष प्रस्तुत करने एवं बकाया जमा करने के लिए आज न्यायालय में बुलाया गया था।

सारंगढ़ के एसडीएम, श्री वासु जैन ने पीएम आवास योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में घर निर्माण के प्रोजेक्ट को लेकर बड़े परिणाम स्वरूप उत्पन्न लापरवाही को संज्ञान में लेते हुए ग्राम मुड़पार बड़े के हितग्राही को नोटिस जारी किया। उन्होंने पंचायती राज अधिनियम की धारा 92 के प्रावधान के अनुसार नोटिस जारी किया, जिसके अनुसार समाधान की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।

यहाँ तक कि योजना के अंतर्गत दिए गए 25000 रुपए के लोन को प्राप्त करने के बावजूद भी, हितग्राही ने घर का निर्माण कार्य पूरा नहीं किया है और उन्होंने शासन द्वारा प्रदत्त किस्तों का दुरुपयोग किया है।

इस संबंध में, हितग्राही को अपने पक्ष को प्रस्तुत करने और बकाया राशि जमा करने के लिए न्यायालय में पेश होने के लिए बुलाया गया है। उन्हें विधिक कार्रवाई के तहत उनकी समस्याओं का समाधान प्रदान किया जाएगा।

इस तरह, सारंगढ़ के एसडीएम ने सार्वजनिक स्तर पर लोगों के हित में समर्थन और संबंधित विधिक प्रक्रियाओं के माध्यम से योजनाओं के लाभ को सुनिश्चित करने के लिए प्रयासरत हैं। इस उपाय के माध्यम से, सुनिश्चित किया जा रहा है कि लाभार्थियों को उनका अधिकार प्राप्त हो और उन्हें उनकी आवश्यकताओं के अनुसार सहायता मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *